रेलवे में सरकारी नौकरी कैसे पाए | Getting Job in Railway

भारतीय रेल (Indian Railway) एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है। भारतीय रेलवे भारत में सबसे अधिक नौकरी प्रदान करने वाला एक विस्तृत क्षेत्र है ,जहाँ पर लगभग 16 लाख से भी अधिक कर्मचारी कार्यरत है | भारतीय रेल अपनें कर्मचारियों को एक अच्छी सैलरी के साथ-साथ अन्य सुविधाएँ प्रदान करती है| जिसके कारण यह लोगो के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, और हमारे देश के अधिकांश युवा भारतीय रेलवे में नौकरी प्राप्त करना चाहते है | देश में सरकारी नौकरी प्राप्त करनें की इच्छा रखने वाले युवाओं में आज भी रेलवे की जॉब्स का आकर्षण बना हुआ है। खासकर ऐसी स्थितियों में जब सरकारी नौकरियां समाप्त होती जा रही हैं और सरकार द्वारा लंबे समय से रिक्त पड़े अधिकांश पदों को या तो समाप्त कर दिया गया है अथवा उन्हें नहीं भरा जा रहा है, रेलवे में सरकारी नौकरी प्राप्त करनें के महत्त्व को आसानी से समझा जा सकता है। SSC Salary

रेलवे में सरकारी नौकरी

रेलवे भर्ती मंडलों द्वारा समय-समय पर रेलवे के खाली पदों को भरने से संबंधित विज्ञापन प्रकाशित किए जाते हैं। इनके बारे में रोज़गार समाचार पत्र,  रेलवे की वेबसाइट तथा अन्य माध्यमों द्वारा पर जानकारी प्रदान की जाती है। प्रायः यह पद निचले स्तर से लेकर राजपत्रित अधिकारी पद के समकक्ष के होते हैं| रेलवे में भर्ती के लिए चयन परीक्षा का आयोजन अखिल भारतीय स्तर पर किया जाता है|

रेलवे में सरकारी नौकरी हेतु योग्यता

भारतीय रेलवे में आठवीं ,दसवीं ,ग्रेजुएट ,पोस्ट ग्रेजुएट,आई टी आई ,पालीटेक्निक और इंजीनियरिंग से लेकर डिग्रीधारक पदों के अनुसार आवेदन कर सकते हैं। रेलवे में तकनीकी और गैर तकनीकी विभागों में और ग्रुप ए, बी, सी एवं डी में भर्ती होती हैं। सभी के लिए शैक्षिक योग्यताएं अलग-अलग होती हैं।

ग्रुप ए के लिए योग्यता

रेलवे में ग्रुप ए और बी के पद ऑफिसर रैंक के अधीन होते हैं, और यह राजपत्रित पद होते हैं। ग्रुप ए में अभ्यर्थियों का चयन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से किया जाता है| इन पदों को भी तीन श्रेणी में विभाजित किया गया है|

  • प्रशासनिक
  • तकनीकी
  • चिकित्सीय

1.प्रशासनिक पद

प्रशासनिक पदों पर अभ्यर्थियों की भर्ती के लिए यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम का आयोजन करता है। इसके लिए किसी किसी भी वर्ग में स्नातक या समकक्ष योग्यता होनी चाहिए।

2.तकनीकी पद

तकनीकी पदों के लिए भर्ती इंजिनियरिंस सर्विसेज परीक्षा के माध्यम से होती है, जिसके लिए इंजिनियरिंग में डिग्री या एमएससी की डिग्री या समकक्ष अनिवार्य है।

3.चिकित्सीय पद

चिकित्सीय पदों पर भर्ती के लिए संयुक्त चिकित्सा परीक्षा का आयोजन किया जाता है, इसके लिए मेडिसिन में डिग्री जैसे एमबीबीएस अनिवार्य है।

इंजीनियरिंग सर्विस एग्जामिनेशन के अतिरिक्त मकैनिकल इंजीनियर के चयन के लिए स्पेशल क्लास रेलवे अप्रेंटिसशिप एग्जामिनेशन (एससीआरए) का भी आयोजन किया जाता है। एससीआरए एग्जाम के लिए 12वीं या पीसीएम के साथ समकक्ष योग्यता आवश्यक है।

ग्रुप बी

ग्रुप बी के अधिकारियों के लिए कोई खास परीक्षा का आयोजन नहीं होता है। ग्रुप सी के स्टाफ को सीधे इन पदों पर प्रमोट किया जाता है। रेलवे भर्ती बोर्ड ग्रुप बी के पदों पर भर्ती करता है।

ग्रुप सी और ग्रुप डी

ग्रुप सी और ग्रुप डी के अंतर्गत गैर राजपत्रित अधीनस्थ पद आते हैं। ग्रुप सी में क्लेरिकल स्टाफ, सुपरवाइजर और कार्य में कुशल  कर्मचारी आते हैं, जबकि ग्रुप डी में अर्ध कुशल कर्मचारी आते हैं। ग्रुप सी और डी के पदों पर भर्ती रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) द्वारा की जाती है। देश के अलग-अलग स्थानों के लिए 19 रेलवे भर्ती बोर्ड हैं जिनका नियंत्रण रेलवे भर्ती नियंत्रण बोर्ड (आरआरसीबी) करता है। इसके कुछ पद और उसके लिए योग्यता इस प्रकार से हैं|

पद नाम योग्यता
इंक्वायरी और रिजर्वेशन क्लर्क ग्रैजुएशन
अकाउंट क्लर्क मैट्रिकुलेशन (10वीं)
जूनियर अकाउंट असिस्टेंट ग्रैजुएशन। इंग्लिश में टाइपिंग स्पीड कम से कम 30 शब्द प्रति मिनट और हिंदी में 25 शब्द प्रति मिनट
प्रोबेशनरी असिस्टेंट मास्टर रेलवे स्टेशन ग्रैजुएशन/ट्रैफिक और मैनेजमेंट में डिप्लोमा वालों को प्राथमिकता
ट्रेनी असिस्टेंट मैट्रिकुलेशन और ड्राइवर के लिए आईटीआई से इलेक्ट्रिकल/डीजल सर्टिफिकेट
अप्रेंटिस इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग में डिप्लोमा (डीएच/इलेक्ट्रिकल)
अप्रेंटिस इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग में डिप्लोमा (डीएच/मकैनिकल)
अप्रेंटिस सिगनल इंस्पेक्टर (ग्रेड I) बैचलर ऑफ इंजिनियरिंग (इलेक्ट्रिकल/इलेक्ट्रोनिक/टेलिकॉम)
अप्रेंटिस सिगनल इंस्पेक्टर (ग्रेड III) डिप्लोमा (मकैनिकल/इलेक्ट्रिकल/इलेक्ट्रोनिक्स/टेलिकॉम) या बीएससी (फिजिक्स)
कुशल कारीगर मैट्रिकुलेशन और आईटीआई सर्टिफिकेट
स्टेनोग्राफर (इंग्लिश) मैट्रिकुलेशन और इंग्लिश स्टेनोग्राफी में दक्ष 80 शब्द प्रति मिनट एवं टाइपिंग 40 शब्द प्रति मिनट
ट्रेनी इलेक्ट्रिकल बीई (मकैनिकल/इलेक्ट्रिकल/फोरमैन इलेक्ट्रोनिक्स)
अप्रेंटिस इंस्पेक्टर और अप्रेंटिस परमानेंट वे इंस्पेक्टर (ग्रेड lll) डिप्लोमा (सिविल/मैकनिकल/इलेक्ट्रोनिक्स)
अप्रेंटिस ट्रेन एग्जामिनर डिग्रीधारक
गार्ड डिग्रीधारक
लॉ असिस्टेंट लॉ में डिग्री
स्टैटिस्टिकल असिस्टेंट अर्थशास्त्र, सांख्यिकी और गणित के साथ एमएससी या एमए

परीक्षा सम्बन्धी जानकारी

रेलवे में अभ्यार्थियों का चयन चयन परीक्षा के आधार पर किया जाता है| इन परीक्षाओं में मुख्य रूप से चार विषयों पर प्रश्न पत्र केंद्रीय होते हैं, जो इस प्रकार है-

  • सामान्य जागरूकता (जनरल अवेयरनेस)
  • अंकगणित ज्ञान (अर्थमेटिक एबिलिटी)
  • तार्किक क्षमता (रीजनिंग)
  • तकनीकी दक्षता (टेक्नीकल एबिलिटी)
  1. सामान्य जागरूकता (जनरल अवेयरनेस)

रेलवे भर्ती की परीक्षाओं में जनरल अवेयरनेस का विशेष महत्त्व है, क्योंकि यदि आपकी पकड़ इसमें अच्छी है, तो थोड़ी मेहनत से अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं। इस परीक्षा की तैयारी के लिए आपको सामान्य ज्ञान को अधिक मज़बूत बनाने पर अधिक ध्यान देना चाहिए। इसके लिए एक या दो अच्छी सामान्य ज्ञान की पुस्तकों का गंभीरतापूर्वक अध्ययन, रोजाना समाचार-पत्र पढने की आदत और ख़बरों के विश्लेषण के लिए पत्रिकाएं पढ़ना काफी उपयोगी सिद्ध हो सकता है। इंटरनेट पर उपलब्ध ऑनलाइन रेलवे परीक्षा सामग्रियों का भी उपयोग किया जा सकता है। full form in hindi

  1. अंकगणित ज्ञान (अर्थमेटिक एबिलिटी)

अर्थमेटिक एबिलिटी के अंतर्गत आप कक्षा 9 और कक्षा 10 की गणित की पुस्तकों का अभ्यास करें। इस पुस्तकों में दिए गए विभिन्न कॉन्सेप्ट और फॉर्मूलों को पूर्ण रूप से तैयार करे । दूसरे शब्दों में यह कह सकते है, कि  इन फॉर्मूलों का गणितीय प्रश्नों को हल करने में कैसे इस्तेमाल किया जाना है, इस बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए। मुख्य टॉपिक्स में परसेंटेज, रेशियो एंड प्रोपोर्शन, प्रॉफिट एंड लॉस, टाइम एंड डिस्टेंस आदि का मुख्य रूप से उल्लेख किया जा सकता है।

3.तार्किक क्षमता (रीजनिंग)

रीजनिंग प्रश्नों का अभ्यास करने के लिए रीजनिंग पर आधारित पुस्तको का अध्ययन करे| सबसे पहले पुस्तक में दिए गये विभिन्न कांसेप्ट्स को समझनें का प्रयास करे । इसके लिए आप दिए गए उदाहरणों को अच्छी तरह से समझने का प्रयास करे। इसके बाद उसमें दिए गए प्रश्नों को हल करें और इस क्रम में विभिन्न प्रकार की रीजनिंग और उनमें निहित तर्कों को समझने का प्रयास भी करें। इस तरह तैयारी करने पर परीक्षा के समय किसी भी तरह का प्रश्न आने पर आपको समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।

4.तकनीकी दक्षता (टेक्नीकल एबिलिटी)

इस प्रश्नपत्र के अंतर्गत प्रतियोगी द्वारा जिस ट्रेड या कौशल के अंतर्गत रिक्त पद पर भर्ती के लिए आवेदन किया गया है उससे संबंधित तकनीकी दक्षता के ज्ञान का मूल्यांकन किया जाता है। इसमें टेक्नीकल प्रश्न ही पूछे जाते हैं, इसलिए परीक्षा की तैयारी के दौरान अपने तकनीकी ट्रेड की पुस्तकें अवश्य पढ़कर जाएं। सैद्धांतिक ही नहीं बल्कि व्यावहारिक पक्ष से जुडी तकनीकी जानकारी भी होनी आवश्यक है। खासकर संबंधित ट्रेड के बारे में नई तकनीकी प्रगति से अवगत होना आवश्यक है।

परीक्षा का पैटर्न

भारतीय रेलवे ऑनलाइन माध्यम से विश्व की सबसे बड़ी परीक्षा का आयोजन करता है, जिसमें असिस्टेंट स्टेशन मास्टर, गूड्स गार्ड, रिजर्वेशन क्लर्क, ट्रैफिक और कमर्श‍ियल अप्रेंटिस और जूनियर एकाउंट असिस्टेंट आदि पद सम्मिलित होते है |

रेलवे में चयन प्रक्रिया 3 चरणों पर आधारित होती है-

  • कंप्यूटर आधारित टेस्ट (सीबीटी)
  • भौतिक क्षमता परीक्षण (पीईटी) यह पद के अनुरूप निर्धारित होती है |
  • दस्तावेज़ सत्यापन

1.कंप्यूटर आधारित टेस्ट

  • यह चयन का पहला चरण होता है जिसमे इन विषयों से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है |
  • विषय- गणित, जनरल इंटेलिजेंस  एंड  रीजनिंग , जनरल  साइंस , जनरल  अवेयरनेस  ऑन करंट  अफेयर्स |
  • कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट इसकी समयवधि एक घंटे की होती है |
  • इस परीक्षा में कुल 75 प्रश्न पूछे जाते है |
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए नकारात्मक अंकन किया जाता है |
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए कुल प्राप्त अंकों में 1/3 भाग की कटौती की जाएगी |
  • सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे |

2.भौतिक क्षमता परीक्षण (पीईटी)

इस परीक्षा का आयोजन पदों के अनुसार किया जाता है-

पुरुष अभ्यर्थी के लिए

  • 35 किलोग्राम वजन के साथ 100 मीटर की दूरी 2 मिनट में तय करनी होगी।
  • 4 मिनट 15 सेकेंड में 1000 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी।

महिला अभ्यर्थी के लिए

  • 20 किलोग्राम वजन के साथ 100 मीटर की दूरी 2 मिनट में कवर करनी होगी।
  • 5 मिनट 40 सेकेंड में 1000 मीटर की दौड़ पूरी करनी होगी।

रेलवे परीक्षा की तैयारी हेतु महत्वपूर्ण टिप्स  

  • रेलवे परीक्षा की तैयारी करनें से पहले हमें परीक्षा पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न की सटीक जानकारी होना आवश्यक है, जिससे हमें परीक्षा में आने वाले प्रश्नों को हल करनें हेतु बेहतर अभ्यास कर सके|
  • परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के अनुसार पढ़ाई करे अर्थात अपनें टापिक से भटके नही|
  • परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए आप पिछले दो- तीन साल के पेपरो को हल करके अभ्यास करे, इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा|
  • यदि परीक्षा के मात्र कुछ दिन ही शेष है, तो आप सभी टॉपिक न पढ़कर सिर्फ महत्वपूर्ण टापिक हो पढ़े|
  • परीक्षा की तैयारी के लिए कुछ शार्ट ट्रिक का प्रयोग करना चाहिए, क्योंकि परीक्षा में हमें एक निश्चित समय दिया जाता है, जिसके अनुसार हमे सभी प्रश्न हल करने होते है|
  • परीक्षा की तैयारी के दौरान तनाव होना एक आम बात है, जैसे-जैसे परीक्षा की तारीख नजदीक आती है, तो हमारा तनाव बढ़ जाता है, जो हमारे लिए बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकता है, हमारा परीक्षा के समय खुश रहना आवश्यक है |
  • परीक्षा में कुछ प्रश्न करंट अफेयर्स से सम्बंधित होते है , करंट अफेयर्स के ज्ञान के लिए प्रतिदिन न्यूज़ पेपर पढ़ना चाहिए और इसके साथ-साथ आप टीवी तथा इन्टरनेट के अम्ध्यम से भी न्यूज़ देखकर जानकारी प्राप्त कर सकते है|
  • परीक्षा में कुछ प्रश्न करंट अफेयर्स से सम्बंधित आते है, इसलिए आप को प्रति दिन एक समाचार पत्र को पढ़ना चाहिए, जिससे आप अपडेट रहे और प्रति दिन टीवी न्यूज़ भी देखे, दोबारा समाचार की न्यूज़ आपके सामने जब आएगी तो आपको समाचार की पढ़ी हुई न्यूज़ याद रहेंगी |
  • परीक्षा के एक दिन पहले आप अपनी पूरी नींद ले जिससे आपको परीक्षा कक्ष में आपका मानसिक संतुलन बना रहे और आप सभी प्रश्नों पर सही से पूरा ध्यान दे पाए |
  • परीक्षा की तैयारी के दौरान नियमित प्रैक्टिस करते रहना चाहिए, बीच-बीच में अभ्यास छोड़ना सही रणनीति नहीं कही जा सकती है। हमेशा यह याद रखें कि ऐसी परीक्षाओं में समय प्रबंधन का विशेष महत्त्व होता है। सैम्पल पेपर्स को निर्धारित समय सीमा में रहकर सॉल्व करने का तरीका बहुत फायदेमंद साबित होगा।

भारतीय रेलवे में केटेगरी के अनुसार वेतन

ग्रुप वेतन बैंड पद
ग्रुप A  8700 से 10000 मैनेजर , जनरल मैनेजर
ग्रुप B 4800 से  7600 चीफ यार्ड मास्टर, स्टेशन सुपरवाइजर और अन्य
ग्रुप C 2000 से 4600 जूनियर इंजिनियर, लोको पायलट, ट्रेन टिकट परीक्षक, आरक्षण सह टिकटिंग क्लर्क और अन्य
ग्रुप D 1800 से 1900 ट्रैक मैन, हेल्पर, ट्रैकमैन और अन्य

ग्रुप डी को मिलनें वाले अन्य लाभ

  • महंगाई भत्ता (DA)
  • दैनिक भत्ता, 8 किलोमीटर से ज्यादा पर माइलेज भत्ता
  • परिवहन भत्ता (TPA)
  • मकान किराया भत्ता (HRA)
  • अवकाश के मामले में मुआवजा
  • नाइट ड्यूटी के लिए भत्ता
  • निर्धारित वाहन भत्ता
  • ओवरटाइम भत्ता (OTA)

ग्रुप डी में पदोन्नति प्राप्त करनें पर मिलनें वाले लाभ

  • ग्रुप डी पोस्ट में सीधे भर्ती व्यक्ति भर्ती के साथ 18000 रुपये / ग्रेड वेतन 1800 के वेतन के साथ खलासी / हेल्पर के रूप में काम करना शुरू कर देता है।
  • इसके बाद उन्हें ग्रेड वेतन 1900 के साथ तकनीशियन ग्रेड 3 में पदोन्नत किया जाता है।
  • ग्रेड 3 के रूप में काम करने के बाद उन्हें ग्रेड पे 2400 के साथ ग्रेड 2 में पदोन्नत किया जाता है।
  • कुछ साल की सेवा पूरी करने के बाद उन्हें 2800 के ग्रेड वेतन के साथ तकनीशियन गार्डे 1 में पदोन्नत किया जाता है।
  • उसके बाद वह ग्रेड वेतन 4200 के साथ मास्टर शिल्प आदमी पर पदोन्नत किया जाता है।
  • एलडीसीई परीक्षा सफल हो जानें पर उनका ग्रेड वेतन 4200 के साथ जूनियर इंजीनियर बन सकता है।
  • यदि वह अभी भी कुछ साल की सेवाओं को छोड़ देता है, तो वह 4600 के ग्रेड वेतन के साथ वरिष्ठ अनुभाग अभियंता के स्तर तक पहुंच सकता है।